मसाले की वस्तुओ से सेहत का सुधार: मसाल्या च्या वस्तुने स्वास्थ रक्षण

  
  1. RAM KASTURE

    RAM KASTURE Member

    मसाले की वस्तुओ से सेहत का सुधार
    मसाल्या च्या वस्तुने स्वास्थ रक्षण
    भोजन में काम में आने वाले मसाले दुनिया के किसी भी देशो का मसालों से अनूठे है, ये मसाले भोजन का स्वाद बढ़ाते है साथ ही दवाइयों का भी काम करते है साथ ही भोजन करने की इच्छा भी अपनी कुदरत की सुगंध के कारण जगाते है. इस कारण इसका इन मसालों का महत्व है हमारे देश में हर भोजन बनाने वाला इन मसालों को और बेजोड़ बनाने और शरीर की व्याधियो को दूर करने के लिए रोज प्रयोग होते है, परम्परागत भोजन को किस प्रकार से लजीज बनाया जाए इस पर हर गृहणी और होटल के रसोईया सोचते है.

    मसालों में अनेक वस्तुए मिली होती है, इसमें जीरा प्रमुख है यह काला, सफेद और मटमैले रंग का होता है. इसकी खेती कर इसे प्राप्त किया जाता है. इसका मसालो में बहुत महत्त्व है. यह मसालों का अहम् हिस्सा है. यह रोमन, ग्रीक और मिस्त्र में भी पुराने समय में महत्वपूर्ण था यह इन देशो में करन्सी के तौर पर प्रयोग में लाया जाता था. यह मसालों के माध्यम से स्वास्थ के लिए लाभ दायक है. यह गर्म प्रकृति का है. इससे शरीर को अनेक प्रकार के लाभ होते है.



    1. हमारे शरीर में विभिन्न कारणों से गंदगी प्रवीश कर जाती है यह गंदगी शरीर में पसीने और फुंसियों के रूप में बाहर निकालती है. नियमित इस्तेमाल से जजीरा शरीर का शोधन करने की प्रक्रिया को तेज करता है जिससे गंदगी मुंहासों और फुंसियों के तौर पर बाहर नहीं आने देता. त्वचा साफ और सुंदर बनी रखने के लिए जीरा महत्व पूर्ण भूमिका निभाता है. अपने चेहरे का मुहासों और फुंसियो से मुक्त रखने के लिए इसका सेवन गरम पानी के साथ किया जा सकता है.
    2. विटामिन E सौन्दर्य को बढाने के लिए उपयोगी है. जीरे में यह विटामिन E भरपूर मात्रा में पाया जाता है. जीरा यह त्वचा को स्वस्थ और सुन्दर रखने में बहुत मदद करता है. जीरे में प्राकृतिक तेल होने के साथ साथ एंटी फंगल गुण भी होते हैं इसके कारण त्वचा किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से बची रहती है.
    3. इसमें त्वचा संबंधी बीमारियों जैसे एग्ज़िमा और सोराइसिस में लाभ देने के गुण होते हैं. जीरा पाउडर को आप अपने फेसपैक में भी मिलाने से त्वचा को इसके गुणों का लाभ दिया जा सकता हैं.
    4. उम्र बढ़ने के साथ साथ चेहरे पर झुर्रिया पड़ने लगती है इस कारण चेहरे पर आयु का असर चेहरे पर दिखायी देता है. जीरे में पाया जाने वाला विटामिन E त्वचा पर होने वाले उम्र के असर को चेहरे पर दिखने नहीं देता है.
    5. अगर आपको हथलियों में कुछ गर्मी महसूस हो रही हो या पसीना आ रहा है तो जीरे को पानी में उबालकर ठंडा करके प्यास लगने पर पीने से लाभ होता है. ऐसा होने पर प्रत्येक बार गुनगुना जीरा पानी पीने से दुगनी गति से लाभ होता है.
    6. आजकल ब्यूटी पार्लर में जीरे के उपयोग से बना फेसपैक अत्याधिक् उपयोग किया जाता है जिसे हल्दी के साथ मिलाकर कर बनाया जाता है. फेस पैक को जीरा पावडर और हल्दी और शहद के साथ प्रयोग में लाना चाहिए. इस प्रसाधन को चेहरे पर लगाकर सूखने तक रखे रखना चाहिए इसके बाद गर्म पानी से धो लेना चाहिए इससे त्वचा मुलायम और उजली बनी रहती है.
    7. आजकल बालो में रुसी की समस्या तेजी से बढ़ रही है, लोग अनेक उपाय के बाद भी लोगो को इससे निजात नहीं मिल रही है. जीरा इसके लिए उपयोगी है जीरे के उपयोग से रूसी से भी छुटकारा पाया जा सकता है. इसे तेल में थोड़ा गर्म करके इस गुनगुने तेल को सिर डालकर पर मसाज की जाए तब रूसी से छुटकारा पाया जा सकता है. इस से कोई साईड इफेक्ट का भी खतरा नहीं रहता.
    8. जीरा डायबिटीक लोगो के लिए जीरा अत्यंत गुणकारी है. यह रक्त में शुगर स्तर को कम करने में सहायता करता है.
    9. जीरे में आयरन भरपूर भण्डार है. आयरन से खून की कमी यानी एनीमिया को ठीक किया जा सकता है. और रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर की मात्रा को बढ़ाता है. यह शरीर में यह ऑक्सीजन को शरीर के सभी भागो में पहुचाने में मदद करता है.
    10. जीरे में थायमोक़्यीनॉन नामक रसायन पाया जाता है यह रसायन दमे के मरीजों के लिए भरपूर लाभ देता है.
    इस प्रकार जीरा आयरन, विटामिन E और थायमोक़्यीनॉन में पाये जाने के कारण इनसे शरीर और त्वचा को लाभ प्राप्त होता है. कभी कभी ज्यादा अलोपेथ्यी दवाई खाने से जब मुंह का स्वाद ख़राब हो जाता है तब मुंह के स्वाद को ठीक करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है. विटामिन E में त्वचा को उजला करने का गुण होने के कारण सौन्दर्य प्रसाधन में भी इसका अत्यधिक उपयोग होता है. पतंजलि इसी प्रकार के गुणकारी वस्तुओ का प्रयोग कर अपने उत्पाद बना रहा है और इनकी और लोगो को आकर्षित करने का काम स्वामी रामदेव कर रहे है.

    जीरया मधले रसायन शरीरा करिता फायदेमंद आहे.
    आपल्या देशात मसल्यान चा जास्त उपयोग होतो. हे मसाले जेवणाचा स्वाद वाढवते आणि शरीराचे आरोग्य पण समाभळते. रोज अश्या प्रकारच्या मसाल्या वर प्रयोग होतात. आणि मोठे मोठे हाटेला चे शेफ नविन नविन शोध करतात. ह्या लोकांची इच्छा असते कि स्वादा बरोबर लोकाना त्यांचा शरीरा ला फायदा मिळाला पाहिजे, ह्या करिता त्यांचे हे यत्न असते. हे शेफ सगळे शिकलेले असतात ह्या कारणास्तव त्यांचे प्रयोग नेहमी स्वीकारले जातात. 60 च्या दशकात मसाले चा इतका मोठा बाजार नव्हता आज हा बाज़ार रोज मोठा होत आहेत. आमच्या देशात मसाल्या मधे वापरल्या जाणारी सगळी वस्तु प्रकृति कडून मिळतात.
    मसाल्या मधे अनेक वस्तु असतात ह्या मधे जीरा हे वस्तु प्रमुख आहे. जिरयाचे रंग काळा, पांढरा, आणि मटमैला असतो. ह्याची शेती करूण याला प्राप्त केले जाते. जीरा मसाल्या च्या प्रमुख घटक आहे. रोमन, ग्रीक आणि मिस्त्र मधे जुन्या काळात ह्याचा उपयोग करेंसी साठी केला जात होता. जीरा ची प्रकर्ति गर्म आहे. जिर मसाल्या च्या ओऊ माध्यम तुन लोकांची प्रकृति कड़े लक्ष ठेवते. ह्यानी शरीरा ला अनेक लाभ होतात. आता पाहूया जीर पासून आम्ही आपले शरीर कशे स्वस्थ ठेवू शकतो.

    1. शरीरा ची घान: शरीरा मधे अनेक प्रकार ची घान कोणत्या ही माध्यमातून प्रवेश करते आणि हे घान घामा च्या रुपाने शरीरातून निघते. ह्या मुळे शरीरा वर फोड़ होतात. जीर हे शरीराचे शोधन करते आणि फोड़ किंवा घामोळया देत नाही. हे चेहरया चे पिम्पळ पण कमी करतात.
    2. विटामिन E मधे सौन्दर्य वाढवन्याचे गुण आहे. हे विटामिन जीर मधे बऱ्याच मात्रा मधे असतो. या कारणाने जीर चेहरया चे सौन्दर्य वाढवतो आणि त्वचा ला सुन्दर आणि स्वस्थ ठेवण्यात मदद करतो. जीर मधे प्राकृतिक तेल असल्या कारणानी एन्टी फंगल गुण पण आहे. हे त्वचा ला इन्फेक्शन होऊ देत नाही.
    3. ह्या मधे त्वचा संबंधी रोग जसे एग्ज़िमा और सोराइसिस ला लाभदायक आहे. जीरा पाउडर चा फेस पेक म्हणुन उपयोग अनेक लोंक करतात.
    4. वाढत्या वया मधे चेहरया वर बदल येते. चेहरया ची त्वचा ढीली होते आणि या कारणाने वय वहाड़े हे दिसून येते. जीर चे रसायन चेहरया वर झुरी पडू देत नाही. हे जिराच्या विटामिन E मुळे शक्य होते.
    5. जर तुमच्या तळ हातात गर्मी होते किंवा घाम येते तेव्हा जिरया ला गरम पाण्यात उकडून टाका आणि पानी ठण्ड झाल्यास त्याला पिउन टाका वेळो वेळी हे केल्यास तळ हाथा चा हा त्रास कमी होते. ठण्ड पाण्याचा ठिकाणी कुनकुण्या पांणाच्या प्रयोग केल्यास हा त्रास लवकर बरा होतो.
    6. आजकाल ब्यूटी पार्लर मधे जीरे पासून बनलेला फेसपैक चा उपयोग मोठ्या प्रमाणात केल्या जातो ह्या फेस पेक मधे हळद आणि मधु टाकल्यास सुन्दर आणि प्रभावी फेस पेक तैयार होतो. हे पेक आज बाजारात विकल्या जाणार्या फेसपेक पेक्षा चांगला असतो, चेहरया वर या पासून कोणते ही वाईट परिणाम होत नाही. ह्यानी त्वचा मुलायम आणि उजळते. ह्या पेसपेक ला चेहरया वर लाऊं वाळे पर्यत ठेवल्या नंतर धुवून घेतल्यास चांगला परिणाम दिसून येतो.
    7. ह्या काळात केसा मधे रुसी से प्रमाण जास्त दिसते, अनेक व्यक्ति ह्या मुळे त्रस्त आहे. बाजारात मिळणारे उत्पाद लाव्ल्यानी पण हा त्रास कमी होत नाही. जीरा पौउडर कुनकुन्या तेलात मिसळूण डोक्या ला लावून मालिश केल्यास ह्या त्रासा पासून मुक्ति मिळु शकते. डोक्याला कोणत्या ही वाईट परिणामा भीती पण नाही. दुसरया उत्पाद वाईट परिणाम देऊ शकतात.
    8. जीर हे मधुमेहा च्या लोका न करिता अत्यंत गुणकारी आहे. हे रक्ता मधे साखरे चे प्रमाण नियंत्रित ठेवते.
    9. जीरे मधे आयरन भरपूर भण्डार आहे. आयरन नि रक्ता ची की कमी अर्थात एनीमिया जीर करतेआणि रक्ता मधे हीमोग्लोबिन चा प्रमाण वाढवते. जीर शरीरा मधले प्रत्येक भगत आक्सीजन चा पुरवठा करतो.
    10. जीरे मधे थायमोक़्यीनॉन नावाचा रसायन राहतो हे रसायन दम्या च्या आजारा करिता लाभदायक आहे.
    11. ह्या प्रकारे जीरा आयरन, विटामिन E और थायमोक़्यीनॉन रसायने भरपुर आहे.ह्या मुळे शरीरा ला आणि त्वचा ला लाभ मिळते. कधी कधी ज्यास्त अलोपेथ्यी ओषधी घेतल्याने तोंडा चा स्वाद ख़राब होवून जातो. तेव्हा तोंडा चा स्वाद जाग्या वर आणन्या करिता जीरे चा प्रयोग केला जातो. विटामिन E मधे त्वचा ला उजळ करण्याचे गुण असल्या कारणाने सौन्दर्य प्रसाधन साठी हे अतिशय उपयोगी आहे. पतंजलि आपल्या देशातल्या गुणकारी वस्तुओ चा उपयोग करूण स्वदेशी उत्पाद बनवून राहले आहे. ह्या उत्पाद करिता लोकाना आकर्षित करण्याचे काम बाबा रामदेव करित आहे.
    ज्या व्यक्तिना रक्त कमी, मधुमेह, चेहरया ची कुरूपता अश्या प्रकारचा त्रास आहे त्यानी काही दिवस जीरा चा वापर केल्यास त्याना त्यांचा त्रासा पासून मुक्तता मिळेल. जीरे चे जे प्रयोग सांगितले आहे ते अतिशय साधे आणि सरळ आहे कोणी ही व्यक्ति हे प्रयोग करू शकतात. हे प्रयोग कमी पैशात जास्त प्रभावी आहे. एक वेळी काही महीन्या करिता असे प्रयोग करने जड़ नाही. सर्वात मोठी गोष्ट मणहजे अश्या पयोगात कोणते ही वाईट परिणाम दिसलेले नाही.
     
Draft saved Draft deleted

Share This Page