प्रधान मंत्री उज्वला योजना: Apply Pradhan Mantri Ujjwala Yojana, Free LPG Gas Cylinder for Household Women Scheme

  
  1. प्रधान मंत्री उज्वला योजना: Apply Pradhan Mantri Ujjwala Yojana, Free LPG Gas Cylinder for Household Women Scheme:

    यह एक सच्चारई है: लकड़ी, चारकोल, कोयले, गोबर के उपलों और फसल के बचे हुए हिस्सोंच सहित ठोस जलावन (सॉलिड फ्यूल) की खुली आग और पारंपरिक चूल्हों में खाना पकाने से घर के भीतर होने वाला वायु प्रदूषण दुनिया में, हृदय और फेफड़ों की बीमारी और सांस के संक्रमण के बाद मृत्युू का चौथा सबसे बड़ा कारण है.

    हमारे देश में आज अधिकांश खासतौर पर गावो में चूल्हे पर ही भोजन बनाये जाने की परम्परा है, इस कारन इन इंधन का उपयोग करने वाली महिलाओ, बच्चो और ऐसे परिवार का स्वास्थ चिंता का विषय सरकार के लिए बना हुआ है. यह इंधन कितना सुरक्षित है इनका ग्राम की महिलाओ को ज्ञान नहीं है. इससे जो काला कोयला निकलता है जो महिलाओ में केंसर जैसे भयावह रोगों के लिए कारणीभूत है.

    जो इंधन इन चूल्हों के लिए उपयोग में लाया जाता है उसका कुछ भाग जंगलो से भी आता है और यही कारण है की पर्यावरणीय असंतुलन के लिए चूल्हे का इंधन भी जवाबदार है. कुल मिलाकर चूल्हे का इंधन महिलाओ के सुरक्षित नहीं है.

    इसी कारण प्रधान मंत्री बार बार लोगो से अपील करते है कि जो सक्षम है वे अपना गैस का अनुदान छोड़ दे ताकि इन गरीब महिलाओ को एल.पी.जी. गैस सिलेंडर देकर उनके स्वास्थ के खतरे से उन्हें बचाया जा सके.

    अनेक लोगो ने प्रधान मंत्री जी के अपील के प्रति सकारात्मक रुख दिखाया और लगभग एक करोड़ लोगो से सब्सिडी छोड़ दी है.

    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रे मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने बीपीएल परिवारों के अंतर्गत आने वाली महिलाओं को निशुल्क एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने वाली योजना को अनुमति दे दी है.

    इस योजना का प्रधान मंत्री उज्वला योजना नाम दिया गया है, इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा के नीचे आने वाली महिलाओ को 5 करोड़ गैस सिलेंडर का वितरण आगामी तीन वर्षो में किया जायेगा, इस योजना की शुरुवात 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया शहर से प्रधान मंत्री के द्वारा शुरू की जाएगी. इस योजना के सभी गैस सिलेंडर परिवार की महिलाओ के नाम से दिए जायेंगे.

    इस योजना के लिए हितग्राहियों का चयन केंद्र सरकार द्वारा राज्य और संघ शासित प्रदेशो के सहयोग से करेगी. योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवारों को 5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए आठ हजार करोड़ रुपए का प्रावधान केंद्र सरकार ने अपने बजट में किया है और सरकार प्रत्येक बीपीएल परिवार को एलपीजी कनेक्शन के लिए 1600 रुपए का वितीय अनुदान प्रदान भी करेगा.

    इस योजना का कार्यान्वयन वित्तीय वर्ष 2016-17, 2017-18 और 2018-19 में किया जाएगा. देश के इतिहास में पहली बार पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय गरीब परिवारों की करोड़ो महिलाओं को लाभ पहुंचाने वाली योजना का कार्यान्वयन करेगा.

    पहले यह कम्पनिया अपने लिए लाभ कमाने वाले कम्पनियों के रूप में जानी जाती थी. इस योजना ने यह सिध्द का दिया कि ये कम्पनिया भी गरीबो के प्रति अपनी जिम्मेदारी को बखूबी समझती है.समाज के प्रति उनके दायित्व की यह योजना इतिहास में गवाह बनेगी.

    देश में निर्धनों लोग अभी तक खाने पकाने की गैस (एलपीजी) का उपयोग सिमीत मात्रा में या नहीं के बराबर कर रही थे . एलपीजी सिलेंडर का उपयोग शहरी या अर्ध शहरी क्षेत्र के परिवारों द्वारा किया जाता है इनमें भी आर्थिक द्रष्टया समृध्द परिवारों की संख्या अधिक है.

    गरीब परिवार की महिलाओ में जिवाश्म ईंधन पर आधारित खाना बनाने से स्वास्थ्य से जुडी गंभीर समस्याओ का आंकलन करने के बाद और विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अनुमान के अनुसार भारत में 5 लाख लोगों की मृत्यु अस्वच्छ जीवाश्म ईंधन के कारण होती है.

    इनमें से अधिकतर की मृत्यु का कारण गैरसंचारी रोग जैसे हद्य रोग, आघात, दीर्घकालीन फेफडे से सबंधित रोग और फेफडे का कैंसर शामिल है. घरेलू वायु प्रदूषण, बच्चो को होने वाले भयंकर श्वास संबंधी रोगो के लिए ब जिम्मेदार है. विशेषज्ञों के अनुसार रसोई में खुली आग जलाना प्रति घंटे चार सौ सिगरेट जलाने के बराबर है. इससे यह अनुमान लगाना कठिन नहीं है कि चूल्हे की आग घर में किस भयानकता से प्रदुषण फैला रहा है.


    सरकार का ध्यान इस गंभीरता की ओर गया इसीलिए सरकार ने गरीब परिवारों की महिलाओ और उनके परिवारों को इस खाना पकाने के प्रदुषण से मुक्त करने का निर्णय लेकर प्रधानमंत्री उज्वला योजना को शुरू करने का निर्णय प्रसवित हुआ. बीपीएल परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने से देश में खाने पकाने की गैस की पहुंच देश के सभी वर्गों तक हो जाएगी.

    इसे ऐसा भी कहा जासकता है कि पूरा देश खाना बनाने के एल.पी.जी. गैस का प्रयोग करेगा. इससे महिलाओं का सशक्तिकरण होगा और उनके और उनके परिवार की स्वास्थ्य की रक्षा होगी. इससे खाने बनाने में लगने वाले समय और कठिन परिश्रम को कम काफी हद तक कम किया जा सकेगा. योजना से खाने पकाने की गैस के वितरण में कार्यरत ग्रामीण युवाओं को रोजगार भी प्राप्त होगा.

    इस योजना के लिए वित्त मंत्री ने 29.02.1016 को बजट भाषण में गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों की 1.5 करोड़ महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने के लिए 2000 हजार करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया था.इसके साथ ही बजट में 5 करोड़ परिवारों तक योजना का लाभ पंहुचाने के लिए योजना को दो ओर वर्ष तक लागू रहेगी की घोषणा भी केंद्र सरकार ने की है. इस अवधि में तेल कम्पनियों का प्रयास रहेगा कि सभी गरीब परिवार इस योजना से लाभान्वित हो जाये.

    यह कठिन होगा कि BPL परिवार में से अतिगरीब परिवारों का चयन कैसे किया जाए, BPL परिवार में ऐसे परिवार शामिल है जिनके पास खुद की जमींन है, बड़ा मकान है गाड़ी है, इस प्रकार के अनेक लोग अपनी हिकमत अमली से BPL परिवार में शामिल है. ऐसे लोग वास्तविक गरीबो को उनका अधिकार नहीं मिलने दे रहे है, यही कारण है कि 1965 से सरकार के लगातार प्रयासों के बाद गरीब कम नहीं हुए है बल्कि बढे है,इस योजना के लिए गरीबो चयन करना सरकार के सामने एक चुनोती होगी, सरकार को इनके चयन के लिए किसी नयी तकनीक का उपयोग करना होगा, BPL परिवार में रहने के अनेक लाभ होने के कारण कई समृध्द लोग भी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे है, ये लोग राशन की दुकान से मिलने वाला सामान का उपयोग अपनी संस्थाओ के लिए कर रहे है.

    कुछ लोग इस अनाज और शक्कर को खुले बाज़ार में बेचकर लाभ कमा रहे है, ऐसे लोगो को गरीब परिवार से निकालने से प्रदेश सरकार के वोट बैंक में सेंध लगेगी और कोई भी सरकार अपने वोट बैंक को तितर बितर नहीं होने देगी. केंद सरकार के सामने ऐसे परिवार के चयन का मामला एक गंभीर चुन्नोती होगी. सभी राजनैतिक दलों को इस विषय में एक साथ आकर इस भयानक बीमारी से देश को मुक्त करना होगा.
     
    Last edited: Apr 29, 2016
  2. guest

    guest Active Member

    City Tonk vaiilage Khatoli ki gas nisulk fhali
     
    Last edited by a moderator: Dec 11, 2016
  3. guest

    guest Active Member

    मोदी सरकार बैक के रुपये का नया योजना निकाली है 2 लाख की है
     
    Last edited by a moderator: Aug 29, 2016
  4. Pravin Kumar Keshri

    Pravin Kumar Keshri New Member

    महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए सच्ची और अच्छी योजना है। गरीब परिवारों की महिलाओ और उनके परिवारों को खाना पकाने के प्रदुषण से मुक्त करने के अभियान में अतिगरीब परिवारों का चयन कैसे किया जाए, यह कार्य अति कठिन है। BPL परिवार में ऐसे परिवार शामिल है जिनके पास खुद की जमींन है, बड़ा मकान है, गाड़ी है, इस प्रकार के अनेक लोग स्थानीय प्रशासनीक अधिकारीयों को रिश्वत देकर अपना नाम BPL List में दर्ज करा लिया है। और इसकी पुरी संभावना है कि ऐसे ही लोग इस योजना का लाभ लेने में सफल रहेगें। क्योंकि प्रशासन में भ्रष्टाचार कोई नई और अचम्भा करने वाला बात नहीं है। ऐसे लोग वास्तविक गरीबो को उनका अधिकार नहीं मिलने दे रहे है, इस योजना के लिए वास्तवीक गरीब का चयन करना सरकार के सामने एक चुनोती है। सरकार को निष्पक्ष और त्रुटी रहित चयन के लिए भारत के प्रत्येक नागरिक का बैंक खाता, चल-अचल सम्पति तथा अन्य गतिविधियों का ब्यौरा आधार कार्ड से संयुक्त करना चाहिए, जिसके आधार पर तकनीक के माध्यम से परिवार का नाम BPL List (सुची) में दर्ज हो, तभी वास्तवीक गरीब, जरूरतमंद और अंतिम आदमी को योजना का लाभ मिल सकेगा। नयी तकनीक का उपयोग करना ही होगा।
     
  5. guest

    guest Active Member

    नमस्कार मुझे भी इस योजना के बारे में कुछ बताएं
     
    Last edited by a moderator: Oct 31, 2016
  6. guest

    guest Active Member

    But BPL me chyanit sbi log grib nhi hain.
     
    shaitan singh ranawat likes this.
  7. modi sarkar ki raaj me sirf amiro ko labh hota he garib or b garib hota jara hai kyuki online jo b kaam rs.20 me hota hai uske 200 rupay lene k baad b garibo ko roz unke pass jana padta hai fir b unka kaam nai hota hai or fijul k pese mang k unhe vaps bhejdete hi to kya yahi modi sarkar ka raajj hai


    or me mere khud ki baat kru to sarkari yojna ka kuch b labh nai mila hai sb form bhre he lekin pese jyada mangte he vo dete hue b hmare form rok dete hai nai aawash yojna nai ujjwal yojna or sosaly

    kull milla k koi b labh nai mila hai form bhar bhar k kitne pese barbad kr diye he pr ab tk kuch rep
    thlyly nai aaya un form ka or gas to aa gya he pr de nai rahe he ab usme b juth bol k rs.5000 rupy ki mang kr rahe hai

    dhariyawad
    dis.pratapgarh
    rajasthan
     
  8. guest

    guest Active Member

    Apply Pradhan Mantri Ujjwala Yojana, Scheme mai apply kiya tha magar abhi tak na ka date aya na koyu information aya election bhi ane wala hai modi ji result public dega aap nahi pm koun bnega ye future ki baat hai
     
Draft saved Draft deleted
Tags: Add Tags

Share This Page